मूल मात्रक तथा व्युत्पन्न मात्रक में अंतर- Fundamental and Derived units

विज्ञान में ‘मूल मात्रक तथा व्युत्पन्न मात्रक में अंतर‘ समझने से पहले समझते हैं कि ‘मात्रक और राशि‘ में क्या अंतर हैं? इस अंतर को समझने के लिए यहाँ हम “दूरी” का उदाहरण लेंगे।

अंतर दूरी और मीटर में, दूरी एक ‘राशि(Quantity)’ है जबकि मीटर एक ‘मात्रक(Unit)’। अर्थात किसी राशि के मापन को व्यक्त करने के लिए मात्रक आवश्यक होता है। अतः मात्रक के बिना राशि, और राशि के बिना मात्रक दोनों का स्वतंत्र रूप से कोई अस्तित्व नही है।

Mool Matrak tatha Vyutpann matrak mein antar
Mool Matrak tatha Vyutpann matrak mein antar

अब आते हैं अपने भौतिक विज्ञान के मूल टॉपिक पर “मूल मात्रक (Fundamental units) तथा व्युत्पन्न मात्रक (Derived units) में अंतर“। जानते हैं नीचे एक टेबल के माध्यम से –

मूल मात्रक तथा व्युत्पन्न मात्रक में अंतर

Difference between Fundamental and Derived units

# मूल मात्रक
(Fundamental units)
व्युत्पन्न मात्रक
(Derived units)
1. मूल मात्रक एक दूसरे से पूर्णतः स्वतंत्र हैं। व्युत्पन्न मात्रक मूल मात्रकों से प्राप्त किए जाते हैं। ये परस्पर एक दूसरे से पूर्णतः स्वतंत्र नहीं होते हैं।
2. मूल मात्रकों को अन्य मात्रकों से व्युत्पन्न नहीं किया जा सकता है। व्युत्पन्न मात्रकों को मूल मूल मात्रकों से व्युत्पन्न किया जा सकता है।
3. मूल मात्रकों के मानक परिभाषित होते हैं। व्युत्पन्न मात्रकों के मानक परिभाषित नहीं होते हैं।

मूल मात्रक तथा व्युत्पन्न मात्रक से संबन्धित अन्य टॉपिक

यह चैप्टर भौतिक विज्ञान के मापन का ही एक हिस्सा है, मापन चैप्टर से संबन्धित अन्य लेख इस प्रकार हैं-

विज्ञान में मात्रकों की एस॰ आई॰ प्रणाली (International System of Units) में दूरी का मात्रक “मानक मीटर“, द्रव्यमान का मात्रक “मानक किलोग्राम“, समय का मात्रक “मानक सेकंड“, वैद्युत धारा का मात्रक “एम्पियर“, ताप का मात्रक “केल्विन“, तथा ज्योति-तीव्रता का मात्रक “कैन्डला” है।

Related Post