वाॅरंटी और गाॅरंटी में क्या अंतर है? विस्तार से हिन्दी में जाने इनमे अंतर

वारंटी और गारंटी के बीच के अंतर को समझने के लिए, आइए पहले वारंटी को समझें। इसे सरल रूप से बताने के लिए, वारंटी का मतलब निर्माता से उसके ग्राहकों…

Read more !

आमंत्रण और निमंत्रण में क्या अंतर होता है? आमंत्रण और निमंत्रण में अंतर

आमंत्रण और निमंत्रण में बहुत फर्क है भले ही दोनों एक ही अर्थ में प्रयुक्त होते हो। अब विस्तार से इनको समझते है कि इनमें क्या फर्क है। आमंत्रण आमंत्रण…

Read more !

निदेशक और निर्देशक में क्या अंतर है? निदेशक और निर्देशक में अंतर

हिंदी भाषा में निर्देशक और निदेशक शब्द का अंतर आज्ञा और आदेश शब्द के समान ही है। निर्देशक का तात्पर्य उस व्यक्ति से है जो कि किसी कार्य को सही…

Read more !

हस्तांतरण और स्थानांतरण में क्या अंतर है? हस्तांतरण और स्थानांतरण में अंतर

हस्तांतरण का मतलब होता है एक हाथ से दूसरे हाथ में देना, जैसे कि एटीएम कार्ड पर लिखा होता है कि यह कार्ड हस्तांतरण के लिये नहीं है मतलब यह…

Read more !

चालाक और चतुर में क्या अंतर है? चालाक और चतुर में अंतर

चालाकी से व्यक्ति की कुबुद्धि, कुमति, नीचता व कुटिलता का ज्ञान होता है। चालाक व्यक्ति चालाकी से दूसरों को मूर्ख बनाता है या ठगता है। चतुरता से व्यक्ति की सुबुद्धि,…

Read more !

आरंभ और प्रारंभ में क्या अंतर (फर्क) है? आरंभ और प्रारंभ में अंतर

प्रारंभ = प्र+ आरंभ प्र (उपसर्ग/Prefix) = आगे (Forth, Forward); अधिक (Very) आरंभ = प्राथमिक अवस्था, Beginning प्रारंभ = एकदम शुरू का हिस्सा, अति-प्राथमिक अवस्था, The Very Beginning ध्यान रहे…

Read more !

हैसियत और औकात में क्या अंतर है? हैसियत और औकात में अंतर

हैसियत और औक़ात दोनों का अर्थ होता है ‘आर्थिक और/या सामाजिक अवस्था या स्तर‘, दोनों में फ़र्क़ सिर्फ़ इतना ही है कि- हैसियत जब हम किसी की आर्थिक/सामाजिक अवस्था या…

Read more !

अपेक्षा और उपेक्षा में क्या अंतर है? अपेक्षा और उपेक्षा में अंतर

अपेक्षा का मतलब तुलना करना जैसे -बस के अपेक्षा मेट्रो कम समय लेती हैं। उपेक्षा का मतलब हम किसी का निरादर / तिरस्कार कर रे हैं जैसे -किसी के गलती…

Read more !

लोकसभा और राज्यसभा के बीच में अंतर या फर्क

दरअसल लोकसभा व राज्यसभा दोनों ही भारतीय संसद का हिस्सा हैं और भारत की केंद्रीय सरकार इनके सदस्यों से मिलकर ही बनती हैं । इनके सदस्यों को सांसद कहते हैं…

Read more !