Soni in Pedagogy
Explain the process of communication and explain its usefulness in classroom teaching. सम्प्रेषण की प्रक्रिया को स्पष्ट करते हुए कक्षा शिक्षण में इसकी उपयोगिता को समझाइये, sampreshan kee prakriya ko spasht karate hue kaksha shikshan mein isakee upayogita ko samajhaiye.

1 Answer

+2 votes
Nadira

बालकों के व्यक्तिगत भेदों को ध्यान में रखते हुए सम्प्रेषण को निम्न प्रकार से उपयोगी बनाया जा सकता है:-

  1. कक्षा में छात्रों की संख्या कम रखी जाय, कम छात्र होने से शिक्षक बालकों के व्यक्तिगत भेदों पर ध्यान दे सकेगा।
  2. विद्यालय में शिक्षकों की संख्या बढ़ायी जाय। इससे शिक्षक-छात्र अनुपात कम होगा। वे (शिक्षक) छात्रों के अधिक निकट आ सकेंगे।
  3. बालकों की रुचियों और आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर शिक्षा दी जाय।
  4. बुद्धि परीक्षण द्वारा बालकों की बुद्धि का मापन किया जाय और उनका बुद्धि-लब्धि के अनुसार वर्गीकरण कर दिया जाय।
  5. कक्षा निर्माण करते समय व्यक्तिगत भेदों को ध्यान में रखा जाय। सूचि, योग्यता और मानसिक क्षमता के आधार पर वर्गीकरण किया जा सकता है।
  6. शिक्षकों का कार्य भार (Work load) कम किया जाय।

Related questions

Category

Follow Us

Stay updated via social channels

Twitter Facebook Instagram Pinterest LinkedIn
...