1 Answer

0 votes
Deva yadav

परिभाषा 

उपमेय में उपमान की कल्पना या सम्भावना होने पर उत्प्रेक्षा अलंकार होता है !

उदाहरण

मुख मानो चन्द्रमा है ।

यहाँ मुख ( उपमेय ) को चन्द्रमा ( उपमान ) मान लिया गया है। यहाँ उत्प्रेक्षा अलंकार है।
इस अलंकार की पहचान मनु , मानो , जनु , जानो शब्दों से होती है।

Related questions

...