Pratham Singh in Fitter Theory
मार्किंग ब्लॉक के प्रकार के बारे में बताइये

1 Answer

0 votes
Deva yadav

मार्किंग ब्लॉक के प्रकार

  1. फिक्स्ड मार्किंग ब्लॉक
  2. यूनिवर्सल मार्किंग ब्लॉक

1. फिक्स्ड मार्किंग ब्लॉक

इस मार्किंग ब्लॉक में आधार(Base) में लगा पिलर(Piller) स्थाई रूप से लम्बवत् (90°) लगा होता है, इस पिलर पर स्क्राइबर को लेकर एक ब्लॉक(Block) ऊपर नीचे खिसकता है, इस ब्लॉक के द्वारा स्क्राइबर को किसी निश्चित ऊंचाई पर एक्यूरेसी(accuracy) से सेट करने में कठिनाई नहीं आती है। मार्किंग ब्लॉक को मार्किंग करने के अलावा लेथ मशीन पर जॉब को चार जबड़ा चक (Four Jaw Chuck) में सेंटर करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

2. यूनिवर्सल मार्किंग ब्लॉक

इस मार्किंग ब्लॉक में पिलर के स्थान पर स्पिंडल (Spindle) होता है, स्पिंडल सीधे बेस में फिट नहीं किया जाता, इसको एक लॉक नट की सहायता से बेस लगी हुई रॉकर आर्म (Rocker Arm) में फिट किया जाता है। रॉकर आर्म का संबंध सीधे बेस से होता है।तथा रॉकर आर्म का दूसरा सिरा एक एडजस्टिंग स्क्रू से जुड़ा होता है। इसकी सहायता से फाइन एडजेस्टमेंट किया जाता है स्क्रु को घुमाने पर स्क्राइबर का सिरा ऊपर-नीचे चलता है लॉक नट को ढीला करके पिलर को लगभग वांछित अवस्था में लाकर लॉक कर देते हैं इसके बाद ही फाइन एडजस्टमेन्ट किए जाते हैं, फिक्स्ड मार्किंग ब्लॉक की तुलना में यूनिवर्सल मार्किंग ब्लॉक अधिक फाइन मार्किंग (Fine Marking) कर सकता है।

मुख्य भाग

(1.) बेस(Base)

यह मार्किंग ब्लॉक का सबसे नीचे का भाग होता है ,जिसके ऊपर रॉकर आर्म(Rocker Arm) और गाइड पिनें (Guide pin) फिट रहती हैं । यह प्रायः कास्ट आयरन (Cast Iron) का बनाया जाता है।

(2.) स्पिण्डल(Spindle)

यह प्रायः माइल्ड स्टील (Mild steel) का बनाया जाता है और केस हार्ड कर दिया जाता है । यह रॉकर आर्म के साथ जुड़ा रहता है ।

(3.)स्क्राइबर(Scriber)

यह प्रायः हाई कार्बन स्टील (High carbon steel) से बनाया जाता है और इसके प्वाइंटों को हार्ड व टेम्पर कर दिया जाता है । इसका प्रयोग रेखाएँ (Lines) खींचने के लिए किया जाता है ।

(4.) स्क्राइबर स्नग(Scriber Snug)

यह पिलर पर ऊपर और नीचे खिसक (Slide) सकता है । इसका उपयोग स्क्राइबर को निश्चित ऊंचाई पर सैट करने के लिए किया जाता है ।

(5.) रॉकर आर्म(Rocker Arm)

यह बेस पर बने हुए खांचे (Groove) में स्क्रू व स्प्रिंग की सहायता से जुड़ा रहता है ।

(6.) फाइन एडजस्टिंग स्क्रू (Fine Adjustment Screw)

यह प्रायः रॉकर आर्म के साथ जुड़ा रहता है इसका प्रयोग फाइन एडजस्टिंग (Fine Adjusting) के लिए किया जाता है ।

(7.) स्पिण्डल लॉक नट(Spindle Lock Nut)

यह प्रायः रॉकर आर्म के साथ लगा रहता है ,जिसका प्रयोग स्पिण्डल को क्लैम्प करने के लिए किया जाता है। इसकी सहायता से स्पिण्डल को किसी भी कोण में सेट जा सकता है।

(8.) गाइड पिनें (Guide Pin)

ये स्टील की बनाई जाती हैं जो कि बेस के साथ जुड़ी रहती हैं। इनको ऊपर नीचे एडजस्ट किया जा सकता है। जब सर्फेस प्लेट (Surface Plate) के किनारे से या मशीन के बेड के किनारे से समानान्तर लाइनें (Parallel Lines) खींचनी हों तो गाइड पिनें प्रयोग में लाई जाती हैं ।

मार्किंग ब्लॉक के उपयोग

  • मार्किंग ब्लॉक का प्रयोग समानान्तर और सीधी रेखाएँ (Straight Lines) खींचने के लिए किया जाता है ।
  • इसका उपयोग समानान्तर साइडों को चैक (Check) करने के लिए भी किया जाता है ।
  • इसका प्रयोग लेथ मशीन पर चार जबड़ा चक (Four Jaw Chuck) में जॉब को सेंटर(90°) में बांधते समय भी किया जाता है ।

Related questions

Category

Follow Us

Stay updated via social channels

Twitter Instagram LinkedIn Instagram
...